एक्टर बॉबी देओल की पॉपुलर वेब सीरीज ‘आश्रम’ अब कानूनी विवाद में फंस गई है। इस सीरीज के दृश्यों पर आपत्ति जताते हुए राजस्थान के जोधपुर की अदालत द्वारा बॉबी देओल और वेब सीरीज ‘आश्रम’ के डायरेक्टर प्रकाश झा को कानूनी नोटिस भेजा गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीरीज पर हिन्दू धर्म की आस्था को आहत करने का आरोप लगा है।

 

लीडिंग डेली ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के अनुसार यह याचिका जोधपुर के एक स्थानीय निवासी खुश खण्डेलवाल द्वारा दायर की गई थी। जिसमें खुश खण्डेलवाल का दावा है कि बॉबी द्वारा निभाए गए किरदार बाबा निराला ने हिंदू संतों की छवि को खराब किया है। हिंदू संत के रूप में बॉबी के किरदार से हिन्दू समाज की धार्मिक भावनाओं बेहद को ठेस पहुंची है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Bobby Deol (@iambobbydeol)

यह भी पढ़ें: कानूनी विवाद में फंसी फिल्म ‘आदिपुरूष’, सैफ अली खान पर रावण को ‘मानवीय’ कहने के लिए दर्ज हुआ मुकदमा

बताते चले कि बॉबी देओल की वेब सीरीज ‘आश्रम’ हाल ही में ओटीटी चैनल एमएक्स प्लेयर पर रिलीज हुई थी। इस सीरीज में बॉबी के किरदार को एक बलात्कारी, भ्रष्ट और ड्रग डीलर के रूप में दिखाया गया है। खुश ने आरोप लगाया है कि बॉबी के चित्रण ने हिंदुओं के लिए संतों के प्रति सम्मान को कम कर दिया है।

एक लीडिंग डेली की रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि खुश ने पहले यह शिकायत पुलिस विभाग में की थी और बॉबी और निर्देशक पर FIR करवाई थी। लेकिन पुलिस ने मामले को दर्ज करने से मना कर दिया और याचिका को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत को ट्रांसफर कर दिया। जहां, उनकी याचिका को खारिज कर दिया गया था। तब खुश ने तब जोधपुर में जिला और सत्र न्यायालय में याचिका दाखिल की थी। बता दें कि इससे पहले करणी सेना ने भी वेब सीरीज ‘आश्रम’ के खिलाफ आवाज उठाई थी।

यह भी पढ़ें: क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर हुआ रितिक रोशन और कंगना रनौत का केस, तंज कसते हुए बोलीं एक्ट्रेस- ‘कब तक रोएगा एक छोटे से अफेयर के लिए’